Wednesday, March 29, 2023
Google search engine
HomeUttarakhand"हरक सिंह रावत का बगावती तेवर "

“हरक सिंह रावत का बगावती तेवर “

उत्तराखंड की सियासत में भी काफी हलचल नजर आ रही है। बता दें कि हरक सिंह रावत  को उत्तराखंड मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है. इसके साथ ही पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण बीजेपी ने भी निष्कासित कर दिया.  यहां बीजेपी ने बागी नेताओं को अब पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में बीजेपी ने रविवार को राज्य सरकार में मंत्री हरक सिंह रावत को विरोधी तेवर अपनाने के चलते पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया। हरक सिंह रावत के कांग्रेस में शामिल होने की खबरों के बीच बीजेपी ने उनके खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए उन्हें सरकार और बीजेपी दोनों से ही बाहर कर दिया है.

इस पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) का कहना है कि रावत पार्टी पर उनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने का दबाव बना रहे थे.

CM धामी ने कहा, ‘हमारी पार्टी में वो आए उन्होंने विकास के मामले में जो कहा हमने किया लेकिन हमारी पार्टी वंशवाद से दूर और विकास के साथ चलने वाली पार्टी है. कई बार उनकी कुछ बातों से हम असहज हुए. स्थितियां ऐसी हुई कि वो पार्टी पर दबाव बना रहे थे, जिसके बाद पार्टी ने ये निर्णय लिया. साथ ही अब एक परिवार से एक ही व्यक्ति को टिकट दिया जाएगा.’

वहीं पार्टी के निकाले जाने के बाद हरक सिंह रावत का पहला बयान आया है।

हरक सिंह रावत ;आज मेरे माध्यम से उत्तराखंड का भला होने जा रहे है। लेकिन पार्टी ने अपनी गलती को छुपाने के लिए ये किया है। इन सब को मैं जानता हूं। मैं सिर्फ काम करना चाहता था. अगर स्कूल बन जाता तो क्या मेरे बच्चे वहां जाते। वहीं उन्होंने कहा कि वे निस्वार्थ होकर हो कर काम करूंगा। रावत ने आगे कहा कि, “मैं किसी को झूठा आश्वासन नहीं देता हूं। अगर फोन आता भी था तो सबको बता देता था। अगर किसी का फोन आ रहा है तो क्या में उनके साथ चला गया। उनसे गलती हो गई गलत ख़बर के हिसाब से उन्होंने फैसला लिया।

  • कैबिनेट बैठक में हरक सिंह के बागी होने की वजह कोटद्वार मेडिकल कॉलेज में देरी बनी। प्रस्ताव न आने से नाराज हरक सिंह की स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत के साथ बहस इस हद तक बढ़ गई कि वो इस्तीफा की घोषणा करते हुए चलते बने। इसके बाद हरक की गैरमौजूदगी में कैबिनेट ने कोटद्वार मेडिकल कॉलेज के लिए पांच करोड़ रुपए मंजूर किए।
  • 6:00 बजे: कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल पहुंचे
  • 6:28 बजे: सीएम पुष्कर धामी पहुंचे
  • 6:45 बजे: कैबिनेट मंत्री हरक रावत पहुंचे
  • 7:10 बजे: विश्वकर्मा बिल्डिंग में कैबिनेट बैठक शुरू
  • 9:50 बजे:कैबिनेट बैठक के प्रस्ताव पूरे हुए
  • 9:52 बजे:हरक ने मेडिकल कालेज का मुद्दा उठाया व धन सिंह से बहस
  • 9:58 बजे:कैबिनेट मंत्री इस्तीफे का ऐलान करते हुए बाहर निकले
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments