Wednesday, February 28, 2024
HomeNational Newsप्रसाद नहीं तो पानी पीकर सोएंगे

प्रसाद नहीं तो पानी पीकर सोएंगे

सर्दियों की एक सुबह है और सरयू नदी के किनारे राम की पैड़ी पर सैकड़ों श्रद्धालु सुबह के स्नान में व्यस्त हैं| जो नदी में डुबकी लगा कर उगते सूरज को प्रणाम कर लेते हैं, वे शहर की तरफ़ पैदल ही निकल जाते हैं|यहां से थोड़ी दूर, कड़ी सुरक्षा के बीच विशाल राम मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है|अयोध्या आने वाले सभी भक्त लाइन लगाकर राम के दर्शन करते है|राम की पैड़ी पर मौजूद दर्जनों मंदिरों में से एक ‘प्राचीन सरयू मंदिर’ के भीतर एक महिला आरती कर रही थीं|आरती ख़त्म कर महंत सुमन पाठक ने कहा, “आज की दुनिया में जो दिखता है वो बिकता है|लोग भव्यता के पीछे भाग रहे है, भगवान के पीछे नहीं|”सुमन अपने परिवार की सातवीं पीढ़ी हैं जो इस मंदिर में पूजा-अर्चना और इसकी देख-रेख करती रही हैं|

दरअसल, सुमन पाठक जिस ‘भव्यता’ की ओर इशारा कर रही हैं, वो राम की पैड़ी पर साफ़ दिखती है|2017 में उत्तर प्रदेश चुनाव जीतने के बाद योगी आदित्यनाथ की सरकार ने यहां के घाटों और सभी बड़े मंदिरों को एक नई शक़्ल देते हुए इनका रंग रोगन करवाया| इनकी मरम्मत करवाई|राम की पैड़ी से शहर के भीतर जाने वाली कई गलियाँ भी हैं| एक गली में घुसते ही सामने की तरफ़ ‘भागलपुर मंदिर’ का मुख्य द्वार दिख जाता है |जर्जर से फाटक को खोल कर भीतर पहुँचने पर मुलाक़ात पुजारी अयोध्या दास से हुई|उन्होंने बताया, “ये 150 साल पुराना मंदिर है और भीतर के अहाते में पहले 200-300 तक श्रद्धालु आते थे और रुकते थे|अब सिर्फ़ हम तीन लोग इस वीराने में रहते हैं|कुआँ सूख चुका है, कुछ छतें गिर रही हैं| जब श्रद्धालु ही नहीं आते तो जिस तरीक़े से भगवान चला रहे हैं, उस तरीक़े से हमलोग चला रहे हैं|जो है उसी में गुज़र-बसर किया जाएगा| प्रसाद नहीं चढ़ा सकेंगे तो पानी पीकर सोएंगे|”जब से बाबरी मस्जिद-राम जन्म भूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आया, तब से अयोध्या के बीचोंबीच विशालकाय राम मंदिर का निर्माण कार्य जारी है|दुनिया भर से भक्त करोड़ों रुपए दान कर चुके हैं|लेकिन इसी अयोध्या में क़रीब 175 मंदिर ऐसे भी हैं, जिन पर ध्यान नहीं दिया गया तो इन पुराने मंदिरों के खंडहर भी शायद नहीं बचेंगे|

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments